शुतुरमुर्ग के बारे में कुछ रोचक तथ्य जिसे आप नहीं जानते होंगे।Ostrich Interesting Facts ( In Hindi)

   (Ostrich) शुतुरमुर्ग के बारे में कुछ रोचक तथ्य ।

शुतुरमुर्ग के बारे में कुछ रोचक तथ्य जिसे आप नहीं जानते होंगे।Ostrich  Interesting Facts ( In Hindi)
Ostrich

 शुतुरमुर्ग दुनिया का सबसे बड़ा ‘पक्षी ‘है। हालांकि उड़ नहीं सकता,फिर भी इसे’ पक्षी’की श्रेणी में नंबर वन पर रखा जाता है।आज के समय में यह जीव अफ्रीका में पाए जाते हैं
 

 शुतुरमुर्ग का शरीर 

   शुतुरमुर्ग का शरीर बहुत ही विशाल होता है।इसके पंख तो बहुत बड़े-बड़े और मजबूत होते हैं, पर यह पंख उसके उड़ने में मदद नहीं करते।नर् शुतुरमुर्ग की लंबाई 6 से 9 फिट तक होती है। और मादा की साढ़े पांच से छः फीट तक होती है। शुतुरमुर्ग एक पक्षी तो है,पर इसकी लंबाई किसी ऊंट से कम नहीं, शुतुरमुर्ग की आंखें बटन जैसी होती है।

शुतुरमुर्ग के पंख

शुतुरमुर्ग की लंबाई की तरह ही इसके पंख भी बहुत मजबूत होते हैं । इसके पंख उड़ने के काम नहीं आते हैं पर हां मादा को रिझाने में इन पंखों की प्रमुख भूमिका होती है। जब अधिक गर्मी होती है,तो शुतुरमुर्ग पंखों को फैलाकर अपनी हवा करता हैं। सर्दियों में अपने शरीर को गर्म रखने के लिए वह अपने पंखों को अपने पैरों के ऊपर तक फैला लेते हैं। 

शुतुरमुर्ग की रफ्तार 

   शुतुरमुर्ग एक पक्षी है।पर यह किसी जानवर से कम नहीं दौड़ते इसकी रफ्तार बहुत तेज है। इसके पैर बहुत ही लम्बे और मजबूत होते हैं। यह 1 घंटे में करीब 50 मील भाग लेता है। इसके पैर इतने मजबूत होते है कि यह अपने पैरों से किसी भी जानवर को जख्मी कर सकता है।

शुतुरमुर्ग की आयु

शुतुरमुर्ग 30 से लेकर 70 वर्ष की आयु तक जीवित रहते हैं।उनका वजन भी कुछ अधिक होता है ।नर शुतुरमुर्ग सफेद और काले रंग का होता है, और मादा का कुछ हल्का यानी स्लेटी होता है। 

शुतुरमुर्ग के अंडे 

शुतुरमुर्ग मादा एक बार में लगभग 20 अंडे देती है ।शुतुरमुर्ग का एक अंडा मुर्गी के 12 अंगों के बराबर होता है ।इन अंडों की रक्षा का काम नर शुतुरमुर्ग भली प्रकार करता है।छह हफ्तों के बाद उस अंडे में से निकलता है एक छोटा सा चिक ।शुतुरमुर्ग दुश्मन से अपने अंडों को बचाने के लिए अपनी जान लड़ा देता है।

शुतुरमुर्ग का आहार

  यह पक्षी अपने आहार में कीड़े,मकोड़े फल, अनाज और छिपकलियां भी खाता है।इन पक्षियों के मुंह में दांत नहीं होते इसलिए यह अपना खाना निगलते है। और निगले हुए खाने को हजम करने के लिए यह कंकड़-पत्थर भी खाते है।

शुतुरमुर्ग की दहाड़

यह पक्षी शेर से भी अधिक आवज में दहाड़ सकते है,यह केवल नर शुतुरमुर्ग ही निकालते हैं, मादाओं को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए और कई बार अपने समुह को आने वाले खतरे से आगाह करने के लिए।

Webuakti में पढ़ें– 

मलेरिया रोग के लक्षण

अकबर बीरबल की रोचक कहानी

महात्मा गौतम बुद्ध की प्रेरणादायक कहानी

Leave a Comment