Tokyo Olympic 2021 Gold Medal Winner Neeraj Chopra

                Tokyo Olympic games 2021

 

टोक्यो ओलंपिक games 2021 गोल्ड मेडल विजेता नीरज चोपड़ा  Tokyo Olympic games 2021 Gold Medal Winner Neeraj Chopra

 

Tokyo Olympic 2021 Gold Medal Winner Neeraj Chopra
Tokyo Olympic 2021
                             नीरज चोपड़ा

 

 

7 अगस्त 2021 दिन शनिवार भारत में एथलीट गेम पर अपना परचम लहराया ।भारत के नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक 2021 में गोल्ड मेडल जीता। इस मेडल के लिए भारत को 100 वर्षों से इंतजार करना पड़ा ।

टोक्यो ओलंपिक games 2021में भारत के नीरज चोपड़ा ने जैवलिन  थ्रो में पुरुषों की फाइनल में स्वर्ण पदक जीता। 

भारत ने टोक्यो ओलंपिक 2021 में अब तक कुल 7 पदक जीते हैं।

 जिस में स्वर्ण पदक एक है जो पहली बार भारत को पदक मिला।

 भारत ने ओलंपिक में अब तक केवल दो ही स्वर्ण पदक जीते हैं। जिसमें शूटिंग निशानेबाज अभिनव बिंद्रा ने पहला गोल्ड मेडल जीता था ।

 

भारत का टोक्यो ओलंपिक  Olympic games 2021 में पहला स्वर्ण पदक 

 

भारत की एथलीट नीरज चोपड़ा Neeraj Chopraने 7 अगस्त 2021 को भारत और टोक्यो ओलंपिक में पहला स्वर्ण पदक जीता। भारत ने इस बार ओलंपिक में केवल 7 पदक जीते हैं। जिसमें एक स्वर्ण पदक और  कांस्य और चांदी है।

Tokyo Olympic 2021 Gold Medal Winner Neeraj Chopra नीरज चोपड़ा की उपलब्धियां

आपको बता दें कि नीरज चोपड़ा अर्जुन पुरस्कार Arjuna Award विजेता है। नीरज चोपड़ा को 2018 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। नीरज चोपड़ा 2016 से भारतीय सेना से जुड़े हैं और वह राजपूताना राइफल्स यूनिट में सूबेदार के पद पर हैं। 2020 के गणतंत्र दिवस समारोह में नीरज चोपड़ा को (वीएसएम) यानी विशिष्ट सेवा मेडल से सम्मानित किया गया था ।जो राष्ट्रपति द्वारा प्राप्त किया जाता है।

  •  नीरज चोपड़ा ने 2016 के अंडर 20 विश्व प्रतियोगिता में भाला फेंक कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था।
  •  2015 में उन्होंने हरियाणा के खेड़ा गांव के राजेंद्र नैन का रिकॉर्ड तोड़ दिया था।
  • कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 में पहली बार नीरज चोपड़ा ने स्वर्ण पदक जीते था।

       नीरज चोपड़ा का व्यक्तिगत जीवन (Neeraj Chopra                                       personal life

 

कहते हैं कि नीरज चोपड़ा अपने किशोरावस्था में बहुत ही मोटे और थुलथुले थे। उनके परिवार ने उन्हें मोटापे से छुटकारा दिलाने के लिए जिम जाने के लिए कहा ।उनका मानना था कि नीरज अगर जिम जाएगा पसीना बहाएगा। तो उसे मोटापे से छुटकारा मिलेगा पर उन्हें क्या पता था कि यही उनका मोटा और थुलथुला बेटा उनका सीना गर्व से ऊंचा कर देगा ।

नीरज चोपड़ा पानीपत के स्टेडियम शिवाजी में जाया करते थे ।वहां उनकी मुलाकात जैवलिन थ्रोवर जयवीर चौधरी से हुई। जयवीर चौधरी ने नीरज चोपड़ा के हुनर को समझा और उन्हें जैवलिन सिखाया ।

नीरज चोपड़ा के  परिवार में 16 सदस्य रहते थे उनके परिवार की स्थिति बहुत ही सामान्य थी।

 

 एक सामान्य जैवलिन की प्रैक्टिस करने में 15 से 20 हजार रुपए लगते हैं। और इसी प्रैक्टिस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर करने में ₹100000 तक लगते हैं ।उनके परिवार ने जैसे तैसे करके उनके लिए पैसे इकट्ठा की और उन्हें पंचकूला में भेजा पंचकूला को एथलेटिक्स की नर्सरी भी कहते हैं ।वहां पर उन्हें नसीम अहमद मिले जो उनके कोच थे। उन्होंने नीरज चोपड़ा को सब कुछ सिखाया।

 आखिरकार फिर नीरज चोपड़ा ने अपने हुनर की बदौलत  कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पदक जीते कामनव  में स्वर्ण पदक जीतने पर हरियाणा सरकार ने नीरज चोपड़ा को 1.500 करोड़ रुपए का इनाम भी दिया था।

Also Reed

Leave a Comment